6 छक्के खाकर हीरो बना जीरो, 2 मैच बाद ही इस खिलाड़ी की दुर्दशा देखने लायक, VIDEO

sports आईपीएल न्यूज़ क्रिकेट-न्यूज़ टीम-न्यूज़

क्रिकेट अनिश्चिताओं का खेल है. और उतनी ही अनिश्चितता इसमें खिलाड़ी के प्रदर्शन का भी होता है. जब तक गेंद और बल्ला बोल रहा है तब तक ठीक, नहीं तो यहां हीरो को जीरो बनने में टाइम नहीं लगता है. अब वेस्ट इंडीज के ओबेड मैकॉय को ही ले लीजिए. 2 मैच पहले तक वो “>वेस्ट इंडीज के हीरो थे. कप्तान निकोलस पूरन के आंखों के तारे बन गए थे. लेकिन, अमेरिकी धरती पर खेले चौथे T20I मुकाबले में वो अर्श से फर्श पर नजर आए. उनके खिलाफ 6 छक्के लगे, जिसने उन्हें हीरो से जीरो बनाने में अहम रोल निभाया.

अब पहले जरा ये जान लीजिए कि ओबेड मैकॉय हीरो कैसे बने थे? उनके हीरो बनने की कहानी 2 मैच से पहले से जुड़ी है. सेंट किट्स में भारत-वेस्ट इंडीज के बीच चल रही मौजूदा T20 सीरीज का दूसरा मैच खेला गया था. उस मैच में बाएं हाथ के तेज गेंदबाज मैकॉय ने 4 ओवर में 6 विकेट चटकाए थे. ये किसी भी कैरेबियाई गेंदबाज का T20I में किया बेस्ट प्रदर्शन था. भारत के खिलाफ पहली बार किसी गेंदबाज ने T20I में 5 या उससे ज्यादा विकेट लिए थे. मैकॉय की ये हीरोगिरी उस मैच में भारत की हार की वजह बनी थी.

4 ओवर में 6 छक्कों के साथ दिए 66 रन

लेकिन, 2 मैच बाद ही दुर्दशा ऐसी हुई कि अब जीरो बन चुके हैं. उन्होंने 4 ओवर में 66 रन लुटाए हैं और बदले में सिर्फ एक विकेट हाथ लगा है. मतलब उनकी इकॉनमी 16.50 का रही. उन्होंने अपनी गेंदबाजी के दौरान चौके कम छक्के ज्यादा खाए. भारतीय बल्लेबाजों ने उनके खिलाफ 3 चौके लगाए तो छक्के 6 मारे.

मैकॉय के नाम हुआ शर्मनाक रिकॉर्ड

4 ओवर में 16.50 की इकॉनमी से 66 रन , T20I में किसी भी कैरेबियाई गेंदबाज का सबसे बेकार प्रदर्शन है. इससे पहले ये रिकॉर्ड कीमो पॉल के नाम था, जिन्होंने न्यूजीलैंड के खिलाफ 4 ओवर में 64 रन दिए थे. लेकिन, अब मैकॉय ने उनसे 2 रन ज्यादा देकर वो शर्मनाक रिकॉर्ड अपने नाम कर लिया है.

साफ है एक ही T20I सीरीज में ओबेड मैकॉय ने अपना बेस्ट भी देख लिया और सबसे खराब आंकड़े का टेस्ट भी ले लिया.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *