भारत को धोया, ऑस्ट्रेलिया के होश उड़ाए, इस दिग्गज ने 4 दिन में टीम को बनाया चैंपियन

sports आईपीएल न्यूज़ क्रिकेट-न्यूज़ टीम-न्यूज़

टी20 विश्व कप का मौसम है और ऐसे में क्रिकेट बिरादरी में सिर्फ इसको लेकर चर्चा है. वैसे विश्व कप वनडे का हो या टी20 का, पुराने मुकाबलों की बातें और यादें ताजा हो ही जाती हैं. उन सितारों के गुणगान गाए जाते हैं, जिन्होंने अपने दम पर कई मुकाबलों का रुख बदल दिया हो. ऐसे ही एक सुपरस्टार की चर्चा आज करेंगे क्योंकि वर्ल्ड कप का मौसम तो है ही, साथ ही है इस दिग्गज का जन्मदिन भी. ये दिग्गज है- अरविंदा डिसिल्वा, श्रीलंका के महानतम बल्लेबाजों में से एक.

1990 के दशक में श्रीलंका को आगे बढ़ाने और उसे चैंपियन बनाने वाले प्रमुख किरदारों में से एक अरविंदा डिसिल्वा का आज यानी 17 अक्टूबर को जन्मदिन है. अरविंदा के दम पर श्रीलंका ने न सिर्फ क्रिकेट की बड़ी टीमों के बीच अपनी खास जगह बनाई, बल्कि उन्हें धूल भी चटाई और विश्व क्रिकेट में अपना यादगार योगदान दिया.

पुल शॉट के महारथी डिसिल्वा

करीब 20 साल तक श्रीलंकाई क्रिकेट का हिस्सा रहे डिसिल्वा ने 1984 में श्रीलंका के लिए डेब्यू किया था और अगले कुछ सालों में ही एक आकर्षक बल्लेबाज और उपयोगी ऑफ स्पिनर के रूप में अपनी पहचान बना ली थी. अरविंदा डिसिल्वा कद में भले ही ज्यादा लंबे नहीं थे, लेकिन उनके पास हर तरह के शॉट्स थे और उसमें सबसे खास था पुल शॉट, जिसके दीवानों की कोई कमी नहीं थी.

टेस्ट हो या वनडे, अरविंदा डिसिल्वा ने दोनों फॉर्मेट में जुझारू के साथ ही आक्रामक बल्लेबाजी का प्रदर्शन किया. श्रीलंकाई क्रिकेट का सबसे यादगार पल 1996 का विश्व कप था और उसके केंद्र में थे डिसिल्वा. चर्चा हमेशा सनथ जयसूर्या की विस्फोटक बल्लेबाजी की होती है लेकिन मिडिल ऑर्डर की जान डिसिल्वा ने उसे हमेशा मुश्किल हालातों से बाहर निकाला.

भारत को कूटा, ऑस्ट्रेलिया को धोया

कोलकाता में भारत के खिलाफ सेमीफाइनल में सिर्फ श्रीलंका ने सिर्फ 1 रन पर दोनों ओपनर और 35 रन तक शीर्ष 3 के विकेट गंवा दिए थे. ऐसे में डिसिल्वा ने हैरतअंगेज जवाबी हमला बोल दिया और सिर्फ 47 गेंदों में 66 रन कूट दिए, जिसमें 14 चौके थे. श्रीलंका ने 251 रन बनाए और फिर डिसिल्वा ने 1 विकेट भी लिया. भारत की दुर्दशा के बाद दर्शकों के हुड़दंग के कारण श्रीलंका को विजेता घोषित किया गया.

4 दिन बाद डिसिल्वा ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ फाइनल में ऑस्ट्रेलियाई गेंदबाजों के होश उड़ा दिए. डिसिल्वा ने पहले 3 विकेट लेकर ऑस्ट्रेलिया को सिर्फ 241 रनों तक रोकने में मदद की. फिर टीम की खराब शुरुआत के बाद ऑस्ट्रेलिया का बुरा हाल करते हुए एक यादगार शतक ठोक दिया. अरविंदा ने नाबाद 107 रन बनाकर श्रीलंका को पहली बार विश्व चैंपियन का खिताब जिताया. उन्होंने विश्व कप में श्रीलंका के लिए सबसे ज्यादा 448 रन बनाए और 4 विकेट भी लिए. ये चारों विकेट सेमीफाइनल और फाइनल में आए.

20 साल का शानदार करियर

अरविंदा डिसिल्वा ने वर्ल्ड कप के बाद ही संन्यास लिया, लेकिन 2003 में. करीब 20 साल तक श्रीलंकाई टीम की जान रहने में वाले डिसिल्वा ने अपने आखिरी टेस्ट में दोहरे शतक के साथ करियर का अंत किया. डिसिल्वा ने श्रीलंका के लिए 93 टेस्ट में 6361 रन बनाए, जिसमें 20 शतक और 22 फिफ्टी रही. साथ ही 29 विकेट भी. वहीं 308 वनडे में 11 शतक और 64 अर्धशतक के साथ 9284 रन बनाए और 106 विकेट भी लिए.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *