गिल के पीछे पड़ा ये दो धुरंधर, एक ने 50 गेंदों में ठोका शतक तो दूसरे ने सिर्फ 41 में, अब रोहित किसे देंगे मौका?

sports आईपीएल न्यूज़ क्रिकेट-न्यूज़ टीम-न्यूज़

युवा भारतीय बल्लेबाज शुभमन गिल के लिए यह साल बहुत बढ़िया चल रहा है, क्योंकि इन दिनों वो अच्छी फॉर्म से गुजर रहे हैं, जिस वजह से उन्हें लगातार अच्छी पारियां खेलते देखा जा रहा है। हाल ही में जिम्बाब्वे के विरुद्ध खेले गए तीन वनडे मैचों की श्रृंखला में शुभमन गिल ने सबसे अधिक रन बनाया है। इस वजह से बहुत सारे पूर्व दिग्गजों ने उनकी तारीफ भी की है।

शुभमन गिल के अलावे घरेलू क्रिकेट में कई भारतीय खिलाड़ी अच्छी बल्लेबाजी और गेंदबाजी कर रहे हैं। इस वजह से उम्मीद जताई जा रही है कि उन्हें बहुत जल्द भारत के लिए खेलने का मौका मिलेगा। भारत में इन दिनों महाराजा ट्रॉफी टी-20 लीग खेला जा रहा है, जिसमे कई युवा बल्लेबाज खेल रहे हैं, लेकिन अब दो बल्लेबाजों ने एक साथ तूफानी अंदाज में शतक लगाया है, जिस वजह से अब शुभमन गिल की चिंता बढ़ गई है।

इन दो बल्लेबाजों ने लगाई तूफानी शतक

महाराजा ट्रॉफी टी-20 लीग का पहला क्वालीफायर मुकाबला गुलबर्गा और बेंगलुरु के बीच खेला गया। उस मैच में पहले बेंगलुरु टीम के कप्तान मयंक अग्रवाल ने 112 रनों की तूफानी पारी खेली है। उस दौरान उनके बल्ले से कुल 9 चौके और 6 गगनचुंबी छक्के निकले हैं। इस के लिए मयंक ने 61 गेंदों का सामना किया है, लेकिन इसमें से 11 गेंद उन्होने डॉट खेली है, जिस वजह से मयंक सिर्फ 50 गेंदों में 112 रनों तक पहुंचे।

वहीं गुलबर्गा टीम के सलामी बल्लेबाज रोहन पाटिल का भी बल्ला जमकर चला है। रोहन उस मैच में 10 चौके और 7 गगनचुंबी छक्के की मदद से 108 रनों की विस्फोटक पारी खेली है। उस दौरान उन्होंने कुल 49 गेंदो का सामना किया, लेकिन उसमे से 8 गेंद रोहन ने डॉट खेली है, जिस वजह से उन्होंने मात्र 41 गेंदों पर 108 रन ठोक दिए हैं।

शुभमन गिल की बढ़ी चिंता

मयंक अग्रवाल ने जिस अंदाज में शतक लगाया है, उसे ध्यान में देखते हुए इंडियन सलेक्टर्स उन्हें टेस्ट क्रिकेट में मौका दे सकते हैं। क्योंकि वो भारत के लिए पहले भी टेस्ट में अच्छी बल्लेबाजी कर चुके हैं। वहीं रोहन पाटिल को वनडे और टी-20 खेलने का मौका मिल सकता है। इस स्थिति में शुभमन गिल को वनडे और टेस्ट दोनों से बाहर होना पड़ सकता है।

रोहित शर्मा किसे देंगे मौका?

अगर भारतीय चयनकर्ता मयंक अग्रवाल और रोहन पाटिल को एक साथ किसी एक फॉर्मेट में मौका देते हैं तो उस स्थिति में टीम इंडिया के कप्तान रोहित शर्मा की चिंता बढ़ जाएगी। क्योंकि उनके सामने मुसीबत खड़ी हो जाएगी कि इन दोनों में से किसे प्लेइंग इलेवन में मौका दिया जाए। मेरे हिसाब से रोहित उस परिस्थिति में मयंक को मौका दे सकते हैं, क्योंकि वो भारत के लिए पहले भी खेल चुके हैं, जिस वजह से उनके पास अधिक अनुभव भी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *