मुर्गी पालने वाले ने मचाई तबही 28 रन पर गिराए 5 विकेट, ODI में हैट्रिक के साथ उगली थी ‘आग’

sports आईपीएल न्यूज़ क्रिकेट-न्यूज़ टीम-न्यूज़

मुर्गी पालने वाले ने मचाई तबही 28 रन पर गिराए 5 विकेट : पेशा मुर्गी पालन का लेकिन क्रिकेट में हुनर ऐसा कि इंटरनेशनल क्रिकेट में उतरे तो अपनी धाक जमाकर गए. वैसे तो वो ऑलराउंड प्रतिभा का धनी थे, यानी गेंद और बल्ले दोनों से कमाल करना जानते थे, लेकिन 1997 में आज ही के दिन यानी 3 जनवरी को उन्होंने जो किया, वो इतिहास के पन्नों में दर्ज हो गया. उन्होंने गेंद से कमाल दिखाते हुए एक के बाद एक 5 बल्लेबाजों को निशाना बनाया था. इस दरम्यान वनडे क्रिकेट की वो हैट्रिक भी ली, जिसने उन्हें सबसे अधिक उम्र में ऐसा करने वाला खिलाड़ी बना दिया. हम बात कर रहे हैं जिम्बाब्वे के ऑलराउंडर एडो ब्रैंडिस की, जो क्रिकेट की बिसात पर अपने खेल के अलावा मोटापे के लिए भी चर्चित थे.

मुर्गी पालने का काम करने वाले ब्रैंडिस 12 साल तक इंटरनेशनल क्रिकेट में रहे जरूर लेकिन इस दौरान लगातार चोटों से जूझते रहे. वो सिर्फ 10 टेस्ट और 59 वनडे ही खेल सके. उन्होंने टेस्ट में 121 रन बनाने के अलावा 26 विकेट लिए जबकि वनडे में 404 रन ठोकने के अलावा 70 विकेट चटकाए.

ब्रैंडिस ने हैट्रिक के साथ झटके 5 विकेट

खैर, यहां हम बात उनके उस कमाल की या यूं कहें कि उस मुकाबले की करने जा रहे हैं, जिसके लिए ब्रैंडिस आज भी याद किए जाते हैं. हरारे में सामना इंग्लैंड से था और 3 वनडे मैचों की सीरीज का आखिरी मैच खेला जा रहा था. इस मुकाबले में जिम्बाब्वे ने पहले बैटिंग की 20 ओवर में 7 विकेट पर 249 रन बनाए. लेकिन, जब इंग्लैंड 250 रन के लक्ष्य का पीछा करने उतरी तो ब्रैंडिस ने उसे मुश्किल में डाल दिया.

ब्रैंडिस ने अकेले ही आधी टीम को समेट दिया. उन्होंने 3 गेंदों पर 3 विकेट चटकाते हुए यानी कि हैट्रिक लेते हुए 10 ओवर में 28 रन देकर 5 विकेट झटके. ये वनडे क्रिकेट में ब्रैंडिस का बेस्ट प्रदर्शन था. साथ ही वो जिम्बाब्वे के पहले गेंदबाज बन गए थे, जिसने वनडे में हैट्रिक ली थी.

सबसे अधिक उम्र के वनडे हैट्रिक लेने वाले गेंदबाज बने

ब्रैंडिस ने निक नाइट, जॉन क्राउले और नासिर हुसैन को आउट कर अपनी हैट्रिक पूरी की, जो कि वनडे क्रिकेट इतिहास की 11वीं हैट्रिक थी. उस प्रदर्शन के साथ ब्रैंडिस वनडे में सबसे अधिक उम्र के हैट्रिक लेने वाले गेंदबाज थे. उन्होंने ये कमाल अपने 34वें बर्थडे से 2 महीने पहले किया था. ब्रैंडिस ने मैच में 2 और विकेट इंग्लैंड के कप्तान माइक अर्थटन और एलक स्टीवर्ट के लिए थे.

एडो ब्रैंडिस के उस कमाल के प्रदर्शन की बदौलत जिम्बाव्वे ने 3 जनवरी 1997 को हरारे में खेले तीसरे वनडे में इंग्लैंड को 131 रन से हरा दिया और इसी के साथ सीरीज में 3-0 से क्लीन स्वीप भी कर लिया.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *