“बूढ़े हो चुके हैं भारतीय खिलाड़ी”, ऑस्ट्रेलिया से मिली हार पर रवि शास्त्री का फूटा गुस्सा, रोहित शर्मा को लगाई लताड़

sports आईपीएल न्यूज़ क्रिकेट-न्यूज़ टीम-न्यूज़

ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ मिली हार से टीम इंडिया के फैंस और क्रिकेट जगत के कई दिग्गज खिलाड़ियों को तगड़ा झटका लगा है। इसी बीच टीम की हार से पूर्व खिलाड़ी रवि शास्त्री (Ravi Shastri) भी भकड़े हुए नजर आए। उन्होंने मैच खत्म होने के बाद भारत की खामियों का उल्लेख किया और उन्हें सुधारने का सुझाव दिया। बीते मंगलवार रोहित शर्मा की टीम को खराब फील्डिंग की चलते जीता हुआ मुकाबला हारना पड़ा। जिस वजह से रवि (Ravi Shastri) ने टीम चयनकर्ताओं को ऐसा सुझाव दिया।

ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ 20 सितंबर को खेले गए मुकाबले में टीम इंडिया को मिस फील्डिंग के चलते पहला टी20 मैच गंवाना पड़ा। टीम ने बल्लेबाजी तो बेहद ही शानदार की, लेकिन फील्डिंग में बहुत ही घटिया नजर आई। खिलाड़ियों की खराब फील्डिंग टीम की हार का कारण बनी। इस मैच में खिलाड़ियों द्वारा कई अहम कैच छोड़े गए। टीम की ऐसी फील्डिंग देखने के बाद पूर्व खिलाड़ी रवि शास्त्री (Ravi Shastri) का गुस्सा फूटा। उन्होंने (Ravi Shastri) मैच खत्म होने के बाद एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में बयान दिया कि,

“अगर आप पिछले कुछ वर्षों में भारतीय टीम को देखें, तो युवा और अनुभवी खिलाड़ियों का मिश्रण रहा है। मुझे यहां युवा गायब लग रहे हैं और इसलिए फील्डिंग कमजोर नजर आई। यदि आप पिछले पांच-छह वर्षों को फील्डिंग के हिसाब से देखें, तो मुझे लगता है कि यह टीम फील्डिंग के मामले में टॉप टीमों को टक्कर देते हुए नजर नहीं आती और यह बड़े टूर्नामेंट में नुकसान पहुंचाता है। यह ठीक उसी प्रकार है जैसे आपने बल्लेबाजी में 15-20 रन अतिरिक्त बनाए हो। यदि आप फील्डिंग की बात करें तो कहां है टैलेंट? जडेजा नहीं है कहां है एक्स फैक्टर?”

खराब फील्डिंग बन सकती हैं भारत के लिए काल

अगर बीते मैच में भारत की फील्डिंग की बात करें तो टीम ने इसमें तीन कैच ड्रॉप किए। ये ऐसे कैच थे अगर खिलाड़ी लपक लेते तो जीत भारत की होती। पहला कैच टीम के हरफनमौला खिलाड़ी अक्षर पटेल ने कैमरन ग्रीन का छोड़ा। इसके बाद अगला कैच हर्षल पटेल के हाथों मैथ्यू वेड का ड्रॉप हुआ। मैथ्यू के इस जीवनदान का खामियाजा टीम को मैच गंवाकर चुकाना पड़ा। जब उनका कैच ड्रॉप हुआ तब वे 1 रन के स्कोर पर थे।

लेकिन जीवनदान मिलने के बाद उन्होंने 21 गेंदों पर 45 रनों की जिताऊ पारी खेली। खिलाड़ियों की ऐसी फील्डिंग टीम की जीत के लिए काल बन सकती है। भारत को कुछ ही दिनों में टी20 वर्ल्ड कप खेलना है। ऐसे में अगर इस तरह की फील्डिंग ही करते रहे तो उनके लिए टूर्नामेंट जीतना मुश्किल हो जाएगा। इसलिए खिलाड़ियों को अपनी फील्डिंग में भी ध्यान देने की सख्त जरूरत है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *