जिम्बाब्वे टीम से हुआ बाहर तो पहुंचा भारत, अब 6 छक्के जड़कर मचाई तबाही, मात्र 13 गेंदों में ठोक दिए 64 रन, ICC ने खत्म किया था करियर

sports आईपीएल न्यूज़ क्रिकेट-न्यूज़ टीम-न्यूज़

लेजेंड्स लीग क्रिकेट ने विश्व क्रिकेट के न सिर्फ पू्र्व दिग्गजों को फिर से अपने फैंस का मनोरंजन करने का मौका दिया है, बल्कि कई ऐसे खिलाड़ियों को भी अपना जलवा दिखाने का मौका दिया है, जिनका करियर अलग-अलग वजहों से या तो परवान नहीं चढ़ पाया या फिर सफल नहीं रहा. ऐसे ही एक क्रिकेटर हैं सोलोमन मीर, जिन्होंने इंडिया कैपिटल्स की ओर से धुआंधार बैटिंग की और टीम को जीत दिलाई.

लखनऊ में बुधवार 21 सितंबर को इंडिया कैपिटल्स ने भीलवाड़ा किंग्स को 78 रनों से करारी शिकस्त दी. दो मैचों में इंडिया कैपिटल्स की ये पहली जीत है और इस जीत के स्टार साबित हुए 33 साल के बल्लेबाज सोलोमन मीर.

गौतम गंभीर की कप्तानी वाली कैपिटल्स ने पहले बल्लेबाजी की और 5 विकेट पर 198 रन बनाए. टीम के लिए जिम्बाब्वे के पूर्व बल्लेबाज सोलोमन मीर ने हैरतअंगेज पारी खेली और सिर्फ 38 गेंदों में 82 रन कूट दिए.

सोलोमन मीर ने अपनी पारी में 215.78 के स्ट्राइक रेट से ये रन कूटे. खास बात ये है कि सोलोमन ने अपनी पारी में 64 रन तो मात्र 13 गेंदों में 7 चौके और 6 छक्कों के दम पर लूट लिए.

सोलोमन मीर ने तीन साल पहले 30 की उम्र में ही संन्यास ले लिया था और इसकी वजह बना थ अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट काउंसिल (ICC) का एक फैसला. 2019 में ICC ने राजनीतिक दखलंदाजी के कारण जिम्बाब्वे क्रिकेट को निलंबित कर दिया था, जिसके चलते वह किसी भी ICC इवेंट में हिस्सा नहीं ले सकती थी. इसके कारण मीर ने संन्यास ले लिया था.

सोलोमन मीर ने 2014 में वनडे क्रिकेट से जिम्बाब्वे के लिए डेब्यू किया था. वह आक्रामक बल्लेबाजी के लिए जाने जाते हैं. अपने 47 ODI में मीर ने 1 शतक और 3 अर्धशतकों की मदद से 955 रन बनाए. वहीं 2 टेस्ट में 78 रन और 9 टी20 मैचों में 253 रन बनाए थे.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *