पहले विराट ने दिया धोखा, फिर टीम ने नहीं दिया मौका, अब फॉर्म में लौटते ही ठोका 96 रन, क्या रोहित देंगे मौका?

sports आईपीएल न्यूज़ क्रिकेट-न्यूज़ टीम-न्यूज़

भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान विराट कोहली की अगुवाई में बहुत सारे खिलाड़ी खेल चुके हैं, लेकिन उस दौरान कुछ क्रिकेटरों ने अपना जलवा अवश्य दिखाया है। इस वजह से आज भी वो भारत के लिए लगातार खेल रहे हैं, लेकिन इसके अलावे बहुत सारे खिलाड़ी टीम से बाहर हो चुके हैं, जिसे अब मौका नहीं मिल रहा है।

विराट कोहली आईपीएल में आरसीबी के लिए भी कप्तानी कर चुके हैं और उस दौरान भी उनकी अगुवाई में कई क्रिकेटरों का प्रदर्शन बेहतर रहा है। लेकिन आज हम एक ऐसे खिलाड़ी के बारे में बात करने जा रहे हैं जिसे पहले विराट ने अपनी टीम से बाहर किया, उसके बाद टीम इंडिया से भी बाहर हुआ। लेकिन अब उसने तूफानी अंदाज में 96 रन ठोककर सबकी बोलती बंद कर दी है।

इस खिलाड़ी को विराट ने दिया धोखा

इंडियन प्रीमियर लीग में विराट कोहली आरसीबी के लिए खेलते हैं और उन के लिए वो कप्तानी कर चुके हैं। इस लीग में कोहली की कप्तानी में बहुत सारे क्रिकेटर खेले हैं, लेकिन उस दौरान कुछ ही लंबे समय तक बैंगलोर के साथ जुड़ पाए। वहीं अधिकतर खिलाड़ियों को जल्द टीम से बाहर कर दिया गया, जिसमे देवदत्त पडिक्कल का नाम भी शामिल है।

देवदत्त पडिक्कल आईपीएल में आरसीबी के लिए खेल चुके हैं और उस दौरान उन्होंने कई शानदार पारियां खेली है। लेकिन फिर भी रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर ने आईपीएल 2022 की नीलामी से पहले उन्हें रिलीज कर दिया। इस वजह से देवदत्त पडिक्कल भी बहुत निराश हुए होंगे। इस लीग में फिलहाल पडिक्कल राजस्थान रॉयल्स टीम का हिस्सा है।

फिर टीम इंडिया ने नहीं दिया मौका

देवदत्त पडिक्कल ने आईपीएल में शानदार प्रदर्शन किया, जिस वजह से उन्हें भारत के लिए खेलने का मौका मिला। लेकिन उस दौरान पडिक्कल को सिर्फ दो टी-20 मुकाबले खेलने को मिले। उसके बाद टीम इंडिया से भी उनका पत्ता पूरी तरफ से साफ हो गया। क्योंकि भारत के लिए देवदत्त पडिक्कल उन दोनों मैचों में अच्छी बल्लेबाजी करने में सफल नहीं हुए, जिस वजह से चयनकर्ताओं ने उन्हें मौका देना बंद कर दिया।

अब 96 रनों की खेली तूफानी पारी

महाराजा ट्रॉफी टी-20 लीग का दूसरा क्वालीफायर मैच मैसूर और गुबर्गा के बीच खेला गया, जिसमे गुलबर्गा के लिए खेलते हुए देवदत्त पडिक्कल ने 64 गेंदों पर 96 रनों की नॉट आउट पारी खेली है। उस दौरान उनके बल्ले से 8 चौके और 5 गगनचुंबी छक्के देखने को मिले हैं। देवदत्त पडिक्कल की उसी विस्फोटक पारी की वजह से गुलबर्गा की टीम वह मैच जीतने में सफल रही। पडिक्कल अब फॉर्म में लौट चुके हैं, लेकिन देखना यह होगा कि रोहित शर्मा की कप्तानी में उन्हें भारत की तरफ से खेलने का मौका मिलता है या नहीं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *