10 फील्डर बांउड्री पर होते, तो भी मैं छक्का मारता’, Hardik Pandya के इस बयान ने जीता फैंस का दिल

sports आईपीएल न्यूज़ क्रिकेट-न्यूज़ टीम-न्यूज़

दुनिया भर के क्रिकेट प्रेमियों की जुबां पर सिर्फ और सिर्फ हार्दिक पांड्या (Hardik Pandya) का नाम सुनने को मिल रहा है। भारतीय ऑलराउंडर ने केवल 17 गेंदों पर लगभग के 200 के स्ट्राइक रेट से नाबाद 33 रन बनाकर टीम इंडिया को रोमांचक जीत दिलाई। भारत के सामने 148 रन का टारगेट था और आखिरी ओवर में जीत के लिए 7 रन बनाने थे। पांड्या ने ओवर की चौथी गेंद पर छक्का लगाकर भारतीय फैंस को जीत का तोहफा दिया।

जड्डू और हार्दिक ने कही दिल की बात

BCCI ने रवींद्र जडेजा और हार्दिक पांड्या का एक वीडियो शेयर किया है, जिसमें पांड्या ने आखिरी ओवर के रोमांच और 2018 में इसी मैदान पर लगी चोट के बारे में बात की। सर जडेजा ने हार्दिक से पूछा कि, पिछली बार 2018 में एशिया कप था, पाकिस्तान के खिलाफ मैच में आपको पीठ में दर्द हुआ था। 2018 से वही पाकिस्तान टीम के खिलाफ मैच से लेकर इस मैच तक का सफर कैसा रहा?

मुझे सब कुछ याद आ रहा था

हार्दिक ने जडेजा के सवाल का जवाब देते हुए कहा, ”मुझे सब याद आ रहा था। मैं यहां से स्ट्रेचर पर बाहर गया था और वही ड्रेसिंग रूम था। ऐसे में ऐसा लगता है कि आपने कुछ हासिल किया है। क्योंकि जिस तरह से चीजें हुईं, उसके बाद इस तरह से मौका मिलना और टीम को जिताना। यह सफर बहुत सुंदर है। मेरे कमबैक के पीछे कई लोगों का बड़ा हाथ रहा, जिनमें सोहम देसाई और नितिन पटेल का भी नाम शामिल है। मैं इन सभी को अपने कमबैक का क्रेडिट देना चाहूंगा।”

आखिरी ओवर को लेकर भी हुआ सवाल

जडेजा ने हार्दिक से आखिरी ओवर को लेकर भी सवाल किया। जड्डू ने कहा, आखिरी ओवर में 7 रन चाहिए थे और मैंने पहली गेंद पर ही बड़ा हिट लगाने का सोचा था, लेकिन मैं आउट हो गया। अगर मैं बड़ा हिट लगता, तो मैच वहीं खत्म हो जाता। मैं आउट हो गया, तो आप क्या सोच रहे थे?

10 फील्डर होते तो भी छक्का लगाता

पांड्या ने कहा, ”7 रन मुझे कुछ ज्यादा बड़े लग नहीं रहे थे, क्योंकि लेफ्ट आर्म स्पिनर है और 5 फील्डर सर्किल के अंदर थे। उससे मुझे कुछ फर्क नहीं पड़ता, 5 क्या 10 फील्डर भी बाहर होते, तो मुझे तो मारना ही था। पूरी पारी में मैं एक ही बार थोड़ा इमोशन्स में दिखा, जब आप आउट हुए, दिमाग में सच बताऊं तो प्रेशर नहीं था। क्योंकि मेरे हिसाब से गेंदबाज को ज्यादा प्रेशर था। तो मैं इंतजार कर रहा था कि वह कोई गलती करे।”

दोनों के बीच हुई बढ़िया साझेदारी

रवींद्र जडेजा और हार्दिक पांड्या ने पांचवें विकेट के लिए 29 गेंदों पर 52 रन जोड़े। जडेजा को आखिरी ओवर की पहली गेंद पर मोहम्मद नवाज ने बोल्ड किया। वह 29 गेंदों पर 35 रन बनाकर आउट हुए। अपनी पारी में स्टार ऑलराउंडर ने दो चौके और इतने ही छक्के भी जड़े। जडेजा के आउट होने के बाद हार्दिक ने जिम्मेदारी ली और मैच फिनिश करके ही मैदान से बाहर लौटे। 33 रन की पारी में पांड्या ने 4 चौके और 1 छक्का जड़ा।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *