धोनी की टीम से हो गई बहुत बड़ी गलती, जिस गेंदबाज को 5 साल पहले एक मैच के बाद कर दिया था बाहर, अब उसी ने दिल्ली के बल्लेबाजों के उड़ाए होश, एक बार में झटके 5 विकेट

sports क्रिकेट-न्यूज़ टीम-न्यूज़

IPL को दुनिया की सबसे जबरदस्त टी20 लीग माना जाता है. इसके लिए भारतीय दिग्गजों के अलावा विश्व के सबसे बड़े क्रिकेटरों की एंट्री को वजह माना जाता है. इसमें खेलने वाले खिलाड़ियों की करोड़ों वाली सैलरी एक बड़ी वजह है. साथ ही हर मैच के लिए फैंस का जोरदार सपोर्ट भी एक खास वजह है. इसके अलावा एक और बात इस लीग को खास बनाती है- किसी छोटे खिलाड़ी का बड़ा बन जाना या किसी बड़े खिलाड़ी की शानदार वापसी. लखनऊ सुपर जायंट्स के तेज गेंदबाज मार्क वुड इस आखिरी कैटेगरी में आते हैं. लखनऊ के अटल बिहारी वाजपेयी स्टेडियम में शनिवार की रात IPL इतिहास का पहला मैच खेला गया.

धोनी की टीम से हो गई बहुत बड़ी गलती, जिस गेंदबाज को 5 साल पहले एक मैच के बाद कर दिया था बाहर, अब उसी ने दिल्ली के बल्लेबाजों के उड़ाए होश, एक बार में झटके 5 विकेट

मैदान पर मेजबान लखनऊ सुपर जायंट्स ही थी. उसके सामने दिल्ली कैपिटल्स थी, जिससे कड़ी टक्कर मिलने की उम्मीद थी. ऐसा हालांकि हुआ नहीं. एक तो लखनऊ ने पहले ही काइल मेयर्स की 73 रनों की विस्फोटक पारी से 193 रन बनाए थे. फिर दिल्ली की सारी उम्मीदों को ध्वस्त कर दिया मार्क वुड की तेज रफ्तार ने, जिसमें स्पीड के साथ थी स्विंग और बाउंस.IPL में पांच साल पहले डेब्यू करने वाले मार्क वुड ने अपनी वापसी का जश्न तेज गेंदबाजी के ऐसे प्रदर्शन से की, जिसे हर कोई बार-बार देखना चाहे. बशर्ते वह बल्लेबाज न हो. पांचवें ओवर में मार्क वुड की एंट्री हुई और लगातार 3 शॉर्ट बॉल डालकर पृथ्वी शॉ को खौफ में डाल दिया.

इसमें एक गेंद तो वाइड थी लेकिन पृथ्वी शॉ के मन में डर पैदा करने के लिए ये काफी था. इसके बाद अगली दो गेंदों में जो हुआ, उसे सनसनीखेज की कैटेगरी में रखा जा सकता है. वुड ने 147 किलोमीटर प्रतिघंटा की रफ्तार से लेंथ बॉल डाली, जो हल्की अंदर के लिए आई और शॉ के स्टंप्स उड़ गए. क्रीज पर आए मिचेल मार्श अपनी दमदार फॉर्म के जोश में आए और पहली गेंद को ड्राइव करने लगे लेकिन उनका भी वही हाल हुआ जो शॉ का हुआ.

वुड के इस एक ओवर ने दिल्ली की किस्मत तय कर दी थी. वुड ने अपने अगले ओवर में भी विकेट लिया और इस बार उनका शिकार बने सरफराज खान. पृथ्वी शॉ की तरह वुड ने सरफराज को भी बाउंसर से डराया और इस पर उन्हें विकेट भी मिल गया, जो अजीब से पोजिशन में आकर अपर-कट खेलने लगे और फाइन लेग पर आउट हो गए.दिल्ली इन झटकों से नहीं उबर पाई और 20वें ओवर में वुड ने फिर दो विकेट लेकर लखनऊ की जीत पर अपने नाम की मुहर लगाई. उन्होंने 4 ओवरों में सिर्फ 14 रन दिये और 5 विकेट लिए.

वह इस सीजन में 5 विकेट लेने वाले पहले गेंदबाज बने.  एक मैच के बाद 5 साल इंतजार वुड की ये वापसी कई मायनों में खास थी. इंग्लिश पेसर ने 2018 में चेन्नई सुपर किंग्स के लिए अपना डेब्यू किया था लेकिन एक ही मैच खेला और उसमें भी बिना विकेट लिए 49 रन खर्च दिये थे. उन्हें फिर मौका नहीं मिला.

इसके बाद अगले चार सीजन मार्क वुड के लिए चोट, खराब फॉर्म, ऑक्शन में निराशा वाले रहे लेकिन इन चार साल के दौरान उन्होंने इंग्लैंड को वनडे और टी20 वर्ल्ड कप जिताने में अहम भूमिका निभाई. मार्क वुड को तो पिछले सीजन में ही IPL में वापसी करनी थी लेकिन सीजन से ठीक पहले लगी अंगूठे की चोट ने उनसे ये मौका भी छीन लिया. इसके बावजूद लखनऊ ने उनकी वापसी का इंतजार किया और उन्हें रिटेन करने का फैसला लिया.

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *