धोनी-विराट ने मिलकर बर्बाद किया इन 5 खिलाड़ियों का करियर, 3 ने मज़बूरी में लिया संन्यास, 2 का हुआ करियर चौपट!

sports आईपीएल न्यूज़ क्रिकेट-न्यूज़ टीम-न्यूज़

टीम इंडिया में खेलने हर छोटे से लेकर बड़े क्रिकेटर का सपना होता है. कुछ खिलाड़ी अपने इस सपने को कुछ वक़्त के लिए ही जी पाते हैं. सिर्फ कुछ मैचों के बाद ही उन्हें टीम से बाहर कर दिया जाता है और उनका पूरा करियर खराब हो जाता है. भारतीय टीम के दो कप्तान महेंद्र सिंह धोनी(MS DHONI) और विराट कोहली(VIRAT KOHLI) ने अपनी-अपनी कप्तानी में कई खिलाड़ियों को खूब मौका दिया और उन्हें एक सफल खिलाड़ी बनने में मदद की.

वहीं, टीम में मौजूद कुछ खिलाड़ियों को ऐसे नज़रअंदाज़ किया गया कि उनका पूरा करियर ही तबाह-बर्बाद हो गया. हम आपको ऐसे ही 5 खिलाड़ियों के बारे में बताने जा रहे हैं, जिनका करियर महेंद्र सिंह धोनी और विराट कोहली की अनदेखी के चलते बर्बाद हो गया.

1. मनोज तिवारी

बंगाल की तरफ से खेलने वाले मनोज तिवारी(MANOJ TIWARI) ने साल 2008 में इंडिया के लिए डेब्यू किया था. वो एक शानदार बल्लेबाज़ के तौर पर टीम में आए थे. धोनी की कप्तानी में खेलने वाली मनोज तिवारी हमेशा मौकों की तलाश में रहे, लेकिन वो ज़्यादा मौके पा न सके. उन्होंने इंडिया के लिए कुल 12 वनडे और 3 टी20 इंटरनेशनल मैच खेले. उन्होंने अपने करियर में एक अर्धशतक और एक शतक भी लगाया था.

2. अमित मिश्रा

अमित मिश्रा(AMIT MISHRA) ने स्पिन की दुनिया में एक अलग ही पहचान बनाई थी. हरियाणा से ताल्लुक रखने वाले लेग स्पिनर अमित मिश्रा ने साल 2003 में इंडिया के लिए डेब्यू किया था. उन्होंने इंडिया के लिए कुल 22 टेस्ट, 36 वनडे और 10 टी20 इंटरनेशनल मैच खेले, जिसमें उन्होंने क्रमशः 76, 64 और 16 विकेट अपने नाम किए थे.

3. मनीष पांडे

इंडिया में एक शानदार बल्लेबाज़ के तौर पर उभरने वाले मनीष पांडे(MANISH PANDEY) ने इंडिया के लिए साल साल 2015 में डेब्यू किया था. मनीष पांडे के पास शानदार बल्लेबाज़ी की कला थी. हालांकि, उनको अक्सर दोनों ही कप्तानों ने नज़रअंदाज़ किया. उन्होंने इंडिया के लिए क 29 वनडे और 39 टी20 इंटरनेशनल मैच खेले, जिसमें उन्होंने कमशः 33.29 की औसत से 625 और 44.31 की शानदार औसत से 562 रन बनाए.

4. वरूण एरॉन

साल 2011 में टीम इंडिया के लिए डेब्यू करने वाले तेज़ गेंदबाज़ वरूण एरॉन(VARUN AARON) को पर्याप्त मौके न मिलने के चलते साल 2015 में क्रिकेट को अलविदा कहान पड़ा. अपने कुल 4 साल के करियर में उन्होंने इंडिया के लिए कुल 18 मैच खेले. धोनी की कप्तानी में डेब्यू करने वाले इस तेज़ गेंदबाज़ को हमेशा मौको की तलाश रही. कई बार इंजरी भी इनके रास्ते में रोड़ा बनी और मिला जुला कर इनका करियर चौपट हो गया.

5. अंबाती रायडू

भारतीय टीम से स्टार बल्लेबाज़ रहे चुके अंबाती रायडू(AMBATI RAYADU) ने टीम इंडिया के लिए साल 2013 में डेब्यू करने वाले रायडू ने टीम के लिए कुल 55 वनडे मैच और 6 टी20 इंटरनेशनल मैच खेले, जिसमें उन्होंने 47.05 के औसत से 1694 रन टी20 में उन्होंने कुल 50 रन बनाए. वनडे में इतना अच्छा स्ट्राइक रेट होने के बाद भी उन्हें एक वक़त के बाद मौके मिलना बंद हो गए और साल 2019 में उन्होंने अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट को अलविदा कहे दिया.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *