9 नंबर पर सबसे ज्यादा शतक लगाने वाला क्रिकेटर, जिसकी गिनती की गलती ने टीम की नींद उड़ा दी

sports क्रिकेट-न्यूज़ टीम-न्यूज़

9 नंबर पर सबसे ज्यादा शतक लगाने वाला क्रिकेटर :– गिनती की एक छोटी गलती कितना बड़ा नुकसान कर सकती है. साउथ अफ्रीका से बेहतर ये कोई नहीं जानता. एक गलत हिसाब किताब की वजह से पूरी टीम की नींद उड़ गई थी. बात 2003 वर्ल्ड कप की है, जो साउथ अफ्रीका में खेला गया था. इस वर्ल्ड कप में मेजबान टीम पहले ही राउंड में बाहर हो गई थी. साउथ अफ्रीका को वेस्टइंडीज के हाथों मिली हार सबसे भारी पड़ी थी. ये एक ऐसी हार थी, जिसे 20 सालों बाद भी साउथ अफ्रीका का कोई फैन नहीं भूल पाया.

दरअसल साउथ अफ्रीका वेस्टइंडीज के खिलाफ वो मैच आसानी से जीतती हुई नजर आ रही थी, मगर फिर बारिश की वजह से डकवर्थ लुइस नियम लागू किया और साउथ अफ्रीका के कप्तान शॉन पॉलक ने डकवर्थ के स्कोर की गलत कैकुलेशन कर ली और फिर उसी हिसाब से रन बनाए, जिस वजह से वो टारगेट से पीछे रह गई थी. गिनती की एक गलती की वजह से साउथ अफ्रीका जीता जिताया मैच हार गया और फिर टीम टूर्नामेंट से भी बाहर गई. पॉलक ने भी इसके बाद कप्तानी छोड़ दी.

टीम की उड़ गई थी नींद

पॉलक ने अपने करियर में कई बड़ी उपब्धियां हासिल की, मगर वर्ल्ड कप में उनसे हुई गिनती की एक गलती ने उन्हें कभी ना भरने वाला जख्म दे दिया. उनकी इस गलती ने पूरी टीम की नींद उड़ा दी थी. पॉलक को भी इस दर्द से उभरने में वक्त लगा. इसके बाद वो 5 साल और इंटरनेशनल क्रिकेट खेले. उन्होंने 2008 में अपने 13 साल के इंटरनेशनल क्रिकेट को अलविदा कह दिया. 9वें नंबर पर सबसे ज्यादा शतक लगाने वाले बल्लेबाज पॉलक आज पूरे 50 साल के हो गए हैं.

 

View this post on Instagram

 

A post shared by Shaun Pollock (@7polly7)

9वें नंबर पर ठोके सबसे ज्यादा शतक

16 जुलाई 1973 को जन्में पॉलक का पूरा परिवार ही क्रिकेट से जुड़ा था. साउथ अफ्रीका के महान ऑलराउंडर पॉलक ने 1995 से 2008 के बीच साउथ अफ्रीका के लिए 108 टेस्ट मैच में 3781 रन बनाए और 421 विकेट लिए. जबकि 303 वनडे मैचों में 3519 रन बनाए और 393 विकेट लिए. वो साउथ अफ्रीका की तरफ से 12 टी20 मैच भी खेले, जिसमें उन्होंने 86 रन बनाए और 15 विकेट लिए. पॉलक के नाम टेस्ट क्रिकेट में 9वें नंबर पर सबसे ज्यादा शतक लगाने का रिकॉर्ड है, जो आज भी बरकरार है. उन्होंने 9वें नंबर पर 2 शतक ठोके.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *