विराट कोहली के लिए बड़ा दिन, धोनी ने दी जिम्मेदारी, फिर 2594 दिन तक दुनिया ने किया सलाम

sports आईपीएल न्यूज़ क्रिकेट-न्यूज़ टीम-न्यूज़

नौ दिसंबर की तारीख भारत के स्टार बल्लेबाज विराट कोहली के लिए बेहद खास है. यह वही तारीख है जिस दिन से उनके कप्तानी करियर की शुरुआत हुई. साल 2014 में महेंद्र सिंह धोनी ने टेस्ट फॉर्मेट से संन्यास का ऐलान किया था. उन्होंने कप्तानी की जिम्मेदारी विराट कोहली को थमाई जिन्होंने भारत को टेस्ट में नंबर वन बनाकर दिखाया. कोहली ने आज ही के दिन यानि नौ दिसंबर को ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ एडिलेड में बतौर टेस्ट कप्तान अपना पहला मैच खेला था.

बतौर कप्तान कोहली की पहली परीक्षा ऑस्ट्रेलिया थी. एडिलेड में पहला मुकाबला खेला गया. भारत यह मैच 48 रन से हार गया था. कोहली के कप्तानी करियर की शुरुआत तो हार से हुई लेकिन इस एक हार के बाद उन्होंने ऐतिहासिक जीत की लाइन लगा दी. उन्होंने विदेशी जमीन पर भारत को ऐसी कामयाबी दिलाई जो पहले कभी कोई कप्तान नहीं कर पाया.

कोहली ने टेस्ट फॉर्मेट में भारत को दिलाई कामयाबी

कोहली ने नौ दिसंबर 2014 को बतौर टेस्ट कप्तान अपना पहला मैच खेला और 15 जनवरी 2022 को टेस्ट कप्तानी छोड़ दी. इन 2594 दिनों का टीम इंडिया का सफर सुनहरा रहा. कोहली ने खुद को भारत का सबसे कामयाब टेस्ट कप्तान साबित किया. उन्होंने एक ऐसी टीम तैयार की जिसे भारत में हारना तो मुश्किल था ही विदेश में भी इस टीम को टक्कर देना आसान नहीं था. क्या ऑस्ट्रेलिया, क्या इंग्लैंड, क्या साउथ अफ्रीका, कोहली ने हर जगह तिरंगा लहराया.

कोहली के बतौर कप्तान बड़े रिकॉर्ड

विराट कोहली ने 68 टेस्ट मुकाबलों में भारत की कप्तानी की. इन 68 मैचों में से 40 मैचों में भारत को जीत हासिल हुई. 17 मुकाबलों में हार का सामना करना पड़ा, जबकि 11 मुकाबले ड्रॉ रहे. कोहली भारत की तरफ से सबसे ज्यादा टेस्ट मैच जीतने वाले कप्तान रहे.

कोहली के कप्तान रहते हुए ही टीम इंडिया साल 2016 में टेस्ट रैंकिंग में पहले स्थान पर पहुंची. साल 2009 के बाद यह पहला मौका था जब भारतीय टीम यह कमाल करने में कामयाब रही..

विराट कोहली ने सबसे ज्यादा टेस्ट मुकाबलों में टीम इंडिया की कप्तानी का रिकॉर्ड भी अपने नाम दर्ज किया. विराट ने 68 मुकाबलों में कप्तानी की, जबकि महेंद्र सिंह धोनी ने 60 मुकाबलों में कप्तानी की थी.

विराट कोहली ने घरेलू सरजमीं पर सबसे ज्यादा 24 मुकाबले जीते. इससे पहले सबसे ज्यादा टेस्ट मुकाबले जीतने का रिकॉर्ड महेंद्र सिंह धोनी के नाम था, जिन्होंने बतौर कप्तान भारत में 21 मैचों में जीत हासिल की थी.

विराट कोहली ने ऐसी मजबूत टीम तैयार की जिसने ऑस्ट्रेलिया में जाकर लगातार दो बार जीत हासिल की. वहीं इंग्लैंड को साउथ अफ्रीका में 6 में से दो मुकाबले जीते. वहीं इंग्लैंड में दमदार प्रदर्शन किया.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *