666666666….इस अनजान युवा भारतीय बल्लेबाज ने 47 गेंदों में 112 रन बनाकर खटखटाया टीम इंडिया का दरवाजा

sports आईपीएल न्यूज़ क्रिकेट-न्यूज़ टीम-न्यूज़

भारत में क्रिकेट खेलने वाले लोगो की बहुत लंबी लाइन है और इसमें कई युवा ऐसे है जिनमे टैलेंट का भंडार है। ऐसा ही टैलेंट का नजारा देखा गया चल रही महाराजा ट्रॉफी में जहा युवा Rohan Patil ने धमाल मचा दिया।

लगाया महाराजा ट्रॉफी का पहला शतक

20 साल के बल्लेबाज रोहन पाटिल ने महाराजा ट्रॉफी के पहले सीजन में शतक लगाकर सनसनी मचा दी। वह इस टूर्नामेंट में शतक लगाने वाले पहले बल्लेबाज बन गए हैं। रोहन ने 47 गेंदों पर 112 रन की विस्फोटक पारी खेली। उन्होंने अपनी इस पारी में 11 चौकों के अलावा 7 छक्के लगाए।

उन्होंने गुलबर्गा मिस्टिक्स की तरफ़ से खेलते हुए घरेलू टीम मैसूरु वॉरियर्स के ख़िलाफ़ यह कारनामा किया। उन्होंने शुरू से ही आक्रामक रुख़ अपनाया और सिर्फ़ 15 गेंदों में अपने पहले 50 रन पूरे किए। उनकी इस पारी की बदौलत उनकी टीम को नौ विकेट की बड़ी जीत हासिल हुई।

15 ओवर के भीतर चेस किया लक्ष्य

मैच की बात करें तो करुण नायर के नेतृत्व में पहले बल्लेबाजी करते हुए मैसूर वॉरियर्स की टीम ने बारिश के कारण 19 ओवर के मैच में 4 विकेट खोकर 160 रन का स्कोर खड़ा किया।

मैसूर की बल्लेबाजी की बात करें तो टीम की तरफ से सर्वाधिक रन पवन देशपांडे ने बनाए। उन्होंने 30 गेंदों पर 41 रनों की पारी खेली। कप्तान करुण नायर का बल्ला नही चला और उन्होंने सिर्फ 18 रन बनाए।

लक्ष्य का पीछा करने उतरी गुलवर्ग मिस्टिक्स, रोहन पाटिल की बल्लेबाजी की मदद से यह चेस आसान हो गया। उनकी बल्लेबाजी की मदद से टीम ने केवल 15वें ओवर में लक्ष्य हासिल कर अपनी टीम को जीत दिला दी।

रोहन पाटिल के अलावा कृष्णा श्रीजीथ ने 29 गेंदों पर 46 रन की पारी खेली और अपनी टीम को 9 विकेट से आसान जीत दिलाने में अच्छी भूमिका निभाई। बता दे कि रोहन ने अपने शतक के 86 रन केवल बाउंड्री से बना डाले।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *