6 छक्के, 9 चौके…Mayank Agarwal का खूब गरज रहा बल्ला, 183 के स्ट्राइक रेट से ठोके 112 रन

sports आईपीएल न्यूज़ क्रिकेट-न्यूज़ टीम-न्यूज़

एशिया कप 2022 की शुरुआत होने में बस चंद दिनों का ही फासला रह गया है। ऐसे में एक भारतीय ओपनर बल्लेबाज ने अपने बल्ले का कमाल दिखाते हुए दमदार शतक लगाया है। उसने ना सिर्फ अपनी टीम की अगुवाई करते हुए टीम को जीत दिलाई है बल्कि विपक्षी टीम के गेंदबाजों को पानी मांगने पर भी मजबूर कर दिया है।

अगर भारत के इस सलामी बल्लेबाज का बल्ला इस मुकाबले में ना चलता तो शायद उसकी टीम को इस मुकाबले में हार का मुंह देखना पड़ता लेकिन अब उन्होंने शतक जड़कर अपनी टीम को जीत दिलाई है।

ऐसे में हम आपको बताते चलें कि टीम इंडिया के धाकड़ ओपनर बल्लेबाज मयंक अग्रवाल (Mayank Agrawal) की, जिन्होंने कर्नाटक में खेली जा रही महाराजा टी20 ट्रॉफी में खेले गए क्वालीफायर- वन के मुकाबले में अपनी टीम को शानदार जीत दिलाई है।

आपको बताते चलें कि मयंक अग्रवाल जैसे सितारों से सजी बेंगलुरु ब्लास्टर की टीम इस बार खिताब जीतने वाली टीमों की फेहरिस्त में शामिल है। इस का शानदार नमूना भी टीम के कप्तान मयंक अग्रवाल ने पेश किया है। क्वालीफायर वन में गुलमर्ग मिस्टिक के खिलाफ धमाकेदार शतक लगाया है।

धांसू रही ओपनिंग साझेदारी

मयंक अग्रवाल (Mayank Agarwal) की अगुवाई वाली बेंगलुरु ब्लास्टर्स की टीम ने मुकाबले में पहले बल्लेबाजी की। टीम के लिए मयंक अग्रवाल और चेतन ने 15.2 ओवर तेज तर्रार बल्लेबाजी करते हुए 162 रन कूट डालें। चेतन 80 रन बनाकर पवेलियन लौट गए जबकि मयंक का तूफान जारी रहा।

Mayank Agarwal ने इस मुकाबले में 61 गेंदों का सामना करते हुए 112 रनों की तूफानी पारी खेली। जिसमें उन्होंने नौ चौके और छह छक्के लगाए। के दौरान उन्होंने 183 के स्ट्राइक रेट से ज्यादा के स्ट्राइक रेट से बल्लेबाजी की।

Mayank Agarwal की टीम ने 20 ओवर में खड़ा किया पहाड़ जैसा स्कोर

मुकाबले में पहले बल्लेबाजी करने उतरी Mayank Agarwal की अगुवाई वाली बेंगलुरू ब्लास्टर्स की टीम ने निर्धारित 20 ओवर में 3 विकेट के नुकसान पर 227 रन जोड़े। जवाब में लक्ष्य का पीछा करने उतरी गुलबर्ग मिस्टिक की टीम मुकाबले में 183 रन ही बना सके ऐसे में उसे 44 रनों से मुकाबला हारना पड़ा। इस मुकाबले में बेंगलुरू ब्लास्टर्स के लिए शानदार कप्तानी पारी खेलने वाले मयंक अग्रवाल को प्लेयर ऑफ द मैच के पुरस्कार से नवाजा गया।

उधर लक्ष्य का पीछा करने वाली गुलमर्ग मिस्टिक के लिए रोहन पाटिल ने 49 गेंदों पर 108 रन बनाए। उन्होंने 220 के स्ट्राइक रेट से भी अधिक के स्ट्राइक रेट से बल्लेबाजी की। मगर वे टीम के अन्य खिलाड़ियों का सहयोग न मिलने के कारण वे अपनी टीम को जीत की दहलीज तक नहीं ले जा सके। ऐसे में उनकी टीम को 44 रनों से हार का सामना करना पड़ा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *