21 चौके और 40 छक्के लगाकर ठोक दिए 452 रन,युवराज जैसे सिक्सर किंग को एशिया कप में नहीं दिया मौका, अब कब मिलेगा मौका?

sports आईपीएल न्यूज़ क्रिकेट-न्यूज़ टीम-न्यूज़

भारतीय क्रिकेट टीम इन दिनों यूएई में है, क्योंकि टीम इंडिया को वहां पर एशिया कप खेलना है, जिसकी शुरुआत 27 अगस्त से होने वाली है। उस टूर्नामेंट में भारत को पहला मुकाबला 28 अगस्त को पाकिस्तान के साथ है, जिसका इंतजार दोनों देशों के क्रिकेट फैंस बहुत ही बेसब्री से कर रहे हैं।

इंडियन सलेक्टर्स ने एशिया कप 2022 के लिए जिस टीम का चयन किया है, उसमे बहुत सारी खामियां नजर आ रही है। इस बार एशिया कप में जसप्रीत बुमराह नहीं खेल रहे हैं, क्योंकि वो इस टूर्नामेंट से पहले चोटिल पाए गए हैं। इस वजह से बुमराह का फायदा इस बार पाकिस्तान की टीम अच्छी तरह उठा सकती है।

युवराज जैसे सिक्सर किंग को नहीं दिया मौका

एशिया कप 2022 के लिए भारत के पास बहुत सारे ऐसे खिलाड़ी मौजूद है जो घरेलू क्रिकेट में लगातार गेंद और बल्ले दोनों से शानदार प्रदर्शन कर रहे हैं। लेकिन फिर भी उन खिलाड़ियों को एशिया कप खेलने का मौका नहीं दिया गया। भारत के पास एक ऐसा ऑलराउंडर भी मौजूद है जो युवराज सिंह की तरह बड़े-बड़े छक्के लगाता है, लेकिन फिर भी चयनकर्ताओं की नजर उस पर नहीं गई।

पिछले महीने भारत में तमिलनाडु प्रीमियर लीग खेला गया था, जिसमे बहुत सारे युवा खिलाड़ियों ने अपना जलवा दिखाया था। उस दौरान संजय यादव ने खासकर अपनी बल्लेबाजी से सबको प्रभावित किया था, क्योंकि उस टूर्नामेंट में उन्हें चौके कम और छक्के अधिक लगाते हुए देखा गया। लेकिन फिर इंडियन चयनकर्ता उन्हें टीम में मौका देने का नाम नहीं ले रहे हैं।

जड़ दिए 40 छक्के और 21 चौके

तमिलनाडु प्रीमियर लीग लीग 2022 में संजय यादव बल्ले के साथ-साथ गेंद से भी कमाल किया था। उस टूर्नामेंट में उन्हें कुल 9 मैच खेलने का मौका मिला, जिसमे उन्होंने 90.40 की जबरदस्त और 186.78 की खतरनाक स्ट्राइक रेट के साथ सबसे अधिक 452 रन बनाए थे। उस दौरान संजय यादव के बल्ले से 21 चौके और 40 गगनचुंबी छक्का देखने को मिला था।

संजय यादव घरेलू क्रिकेट में पिछले कई सालों से लगातार रनों का अंबार खड़ा कर रहे हैं, जिस वजह से उन्हें टीम इंडिया का अगला युवराज सिंह कहा जाता है। लेकिन फिर भी भारतीय चयनकर्ता उनकी तरफ ध्यान नहीं दे रहे हैं। अगर संजय यादव को भारत के लिए खेलने का मौका मिलेगा तो वो गेंद और बल्ले दोनों से कारगर साबित होंगे। लेकिन देकना यह होगा कि उन्हें कब टीम इंडिया की जर्सी पहनने का मौका मिलता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *